Dard Bhari Shayari In Hindi | दर्द भरी हिंदी शायरी

दर्द भरी शायरी | Sad Collection Dard Bhari Shayari In Hindi | दर्द भरी शायरी हिंदी में लिखी हुई, Zakhmi dil Shayari, Pyar me Dard Bhari Sms and More.

Dard Shayari in Hindi | दर्द भरी शायरी हिंदी में लिखी हुई

Dard Shayari in Hindi | दर्द भरी शायरी हिंदी में लिखी हुई


जो नजर से गुजर जाया करते हैं;
वो सितारे अक्सर टूट जाया करते हैं;
कुछ लोग दर्द को बयां नहीं होने देते,
बस चुपचाप बिखर जाया करते हैं।


Dard Bhari Shayari In Hindi 

तेरी आरज़ू मेरा ख्वाब है; 
जिसका रास्ता बहुत खराब है 
मेरे ज़ख्म का अंदाज़ा न लगादिल का हर पन्ना दर्द की किताब है।


दर्द भरी हिंदी शायरी

मेरी दुआ भी हो शामिल तेरी मुरादों में,
खयाल बनके समा जाऊं तेरी यादों में


Dard Shayari 

हम उम्मीदों की दुनियां बसाते रहे;
वो भी पल पल हमें आजमाते रहे;
जब मोहब्बत में मरने का वक्त आया;
हम मर गए और वो मुस्कुराते रहे।


Dard Shayari In Hindi 

रोने की सज़ा न रुलाने की सज़ा है;
ये दर्द मोहब्बत को निभाने की सज़ा है;
हँसते हैं तो आँखों से निकल आते हैं आँसू;
ये उस शख्स से दिल लगाने की सज़ा है।


दर्द भरी शायरी 

हादसे इंसान के संग मसखरी करने लगे;
लफ्ज कागज पर उतर जादूगरी करने लगे;
कामयाबी जिसने पाई उनके घर बस गए;
जिनके दिल टूटे वो आशिक शायरी करने लगे।


Dard Bhari Shayari 

दिल मेरा जो अगर रोया न होता;
हमने भी आँखों को भिगोया न होता;
दो पल की हँसी में छुपा लेता ग़मों को;
ख़्वाब की हक़ीक़त को जो संजोया नहीं होता।


Dard Bhari Shayari Hindi 

लिखूं कुछ आज यह वक़्त का तकाजा है;
मेरे दिल का दर्द अभी ताजा-ताजा है;
गिर पड़ते हैं मेरे आंसू मेरे ही कागज पर;
लगता है कि कलम में स्याही का दर्द ज्यादा है!


Dard Shayari 

वो नाराज़ हैं हमसे कि हम कुछ लिखते नहीं;
कहाँ से लाएं लफ्ज़ जब हमको मिलते नहीं;
दर्द की ज़ुबान होती तो बता देते शायद;
वो ज़ख्म कैसे दिखाए जो दिखते नहीं।


Dard Shayari In Hindi 

खून बन कर मुनासिब नहीं दिल बहे;
दिल नहीं मानता कौन दिल से कहे;
तेरी दुनिया में आये बहुत दिन रहे;
सुख ये पाया कि हमने बहुत दुःख सहे।


दर्द भरी शायरी 

हँसते हुए ज़ख्मों को भुलाने लगे हैं हम;
हर दर्द के निशान मिटाने लगे हैं हम;
अब और कोई ज़ुल्म सताएगा क्या भला;
ज़ुल्मों सितम को अब तो सताने लगे हैं हम।


Dard Bhari Shayari 

न जाने क्यों हमें आँसू बहाना नहीं आता, न जाने क्यों हाल-ऐ-दिल बताना नहीं आता, क्यों सब दोस्त बिछड़ गए हमसे, शायद हमें ही साथ निभाना नहीं आता।


Dard Bhari Shayari In Hindi 

आज तेरी याद हम सीने से लगा कर रोये, तन्हाई मैं तुझे हम पास बुला कर रोये, कई बार पुकारा इस दिल ने तुम्हें, और हर बार तुम्हें ना पाकर हम रोये।


Dard Shayari 

मेरा ख़याल ज़ेहन से मिटा भी न सकोगे, एक बार जो तुम मेरे गम से मिलोगे, तो सारी उम्र मुस्करा न सकोगे।


Dard Shayari In Hindi 

दिल के टूटने से नही होती है आवाज़, आंसू के बहने का नही होता है अंदाज़, गम का कभी भी हो सकता है आगाज़, और दर्द के होने का तो बस होता है एहसास।


दर्द भरी शायरी 

ज़रा सी ज़िंदगी है, अरमान बहुत हैं, हमदर्द नहीं कोई, इंसान बहुत हैं, दिल के दर्द सुनाएं तो किसको, जो दिल के करीब है, वो अनजान बहुत है।


Dard Bhari Shayari 

वो रात दर्द और सितम की रात होगी, जिस रात रुखसत उनकी बारात होगी, उठ जाता हूँ मैं ये सोचकर नींद से अक्सर, कि एक गैर की बाहों में मेरी सारी कायनात होगी।


Dard Bhari Shayari In Hindi 

दर्द कितना है बता नहीं सकते, ज़ख़्म कितने हैं दिखा नहीं सकते, आँखों से समझ सको तो समझ लो, आँसू गिरे हैं कितने गिना नहीं सकते।


Dard Shayari 

अनजाने में यूँ ही हम दिल गँवा बैठे, इस प्यार में कैसे धोखा खा बैठे, उनसे क्या गिला करें, भूल तो हमारी थी, जो बिना दिल वालों से ही दिल लगा बैठे।


Dard Shayari In Hindi 

दिल के दर्द छुपाना बड़ा मुश्किल है, टूट कर फिर मुस्कुराना बड़ा मुश्किल है, किसी अपने के साथ दूर तक जाओ फिर देखो, अकेले लौट कर आना कितना मुश्किल है।


दर्द भरी शायरी 

वो करीब ही न आये तो इज़हार क्या करते, खुद बने निशाना तो शिकार क्या करते, मर गए पर खुली रखी आँखें, इससे ज्यादा किसी का इंतजार क्या करते।


Dard Bhari Shayari 

ज़ख्म जब मेरे सीने के भर जाएंगे, आंसू भी मोती बन के बिखर जाएंगे, ये मत पूछना किसने दर्द दिया, वरना कुछ अपनों के सर झुक जाएंगे।


Dard Bhari Shayari In Hindi 

एक अजीब सा मंजर नज़र आता है, हर एक आँसूं समंदर नज़र आता है, कहाँ रखूं मैं शीशे सा दिल अपना, हर किसी के हाथ मैं पत्थर नज़र आता है।


Dard Shayari 

कांटो सी चुभती है तन्हाई, अंगारों सी सुलगती है तन्हाई, कोई आ कर हम दोनों को ज़रा हँसा दे, मैं रोता हूँ तो रोने लगती है तन्हाई।


Dard Shayari In Hindi 

हर ख़ुशी के पहलू हाथों से छूट गए, अब तो खुद के साये भी हमसे रूठ गए, हालात हैं अब ऐसे ज़िंदगी में हमारी, प्यार की राहों में हम खुद ही टूट गए।


दर्द भरी शायरी 

न वो सपना देखो जो टूट जाये, न वो हाथ थामो जो छूट जाये, मत आने दो किसी को करीब इतना, कि उसके दूर जाने से इंसान खुद से रूठ जाये।


Dard Bhari Shayari 

एक लफ्ज़ उनको सुनाने के लिए, कितने अल्फ़ाज़ लिखे हमने ज़माने के लिए, उनका मिलना ही मुक़द्दर में न था, वर्ना क्या कुछ नहीं किया उनको पाने के लिए।


Dard Bhari Shayari In Hindi 

जहाँ खामोश फिजा थी, साया भी न था, हमसा कोई किसी जुर्म में आया भी न था, न जाने क्यों छिनी गई हमसे हंसी, हमने तो किसी का दिल दुखाया भी न था।


Dard Shayari 

दर्द है दिल में पर इसका एहसास नहीं होता, रोता है दिल जब वो पास नहीं होता, बर्बाद हो गए हम उसके प्यार में, और वो कहते हैं इस तरह प्यार नहीं होता।


Dard Shayari In Hindi

तेरी आरज़ू मेरा ख्वाब है, जिसका रास्ता बहुत खराब है, मेरे ज़ख्म का अंदाज़ा न लगा, दिल का हर पन्ना दर्द की किताब है।


दर्द भरी शायरी 

कहाँ कोई ऐसा मिला जिस पर हम दुनिया लुटा देते, हर एक ने धोखा दिया, किस-किस को भुला देते, अपने दिल का ज़ख्म दिल में ही दबाये रखा, बयां करते तो महफ़िल को रुला देते।


Dard Bhari Shayari 

कभी कभी मोहब्बत में वादे टूट जाते हैं, इश्क़ के कच्चे धागे टूट जाते हैं, झूठ बोलता होगा कभी चाँद भी, इसलिए तो रुठकर तारे टूट जाते हैं।


Dard Bhari Shayari In Hindi 

वो तो अपने दर्द रो-रो कर सुनाते रहे, हमारी तन्हाईयों से आँखें चुराते रहे, और हमें बेवफ़ा का नाम मिला, क्योंकि हम हर दर्द मुस्कुरा कर छिपाते रहे।


Dard Shayari 

जो मेरा था वो मेरा हो नहीं पाया, आँखों में आंसू भरे थे पर मैं रो नहीं पाया, एक दिन उन्होंने मुझसे कहा कि, हम मिलेंगे ख़्वाबों में पर मेरी बदकिस्मती तो देखिये, उस रात तो मैं ख़ुशी के मारे सो भी नहीं पाया।


Dard Shayari In Hindi 

बिन बताये उसने ना जाने क्यों ये दूरी कर दी, बिछड़ के उसने मोहब्बत ही अधूरी कर दी, मेरे मुकद्दर में ग़म आये तो क्या हुआ, खुदा ने उसकी ख्वाहिश तो पूरी कर दी।


दर्द भरी शायरी 

ग़म इसका नहीं कि तू मेरा न हो सका, मेरी मोहब्बत में मेरा सहारा ना बन सका, ग़म तो इसका भी नहीं कि सुकून दिल का लुट गया, ग़म तो इसका है कि मोहब्बत से भरोसा ही उठ गया।


Dard Bhari Shayari 

आज फिर तेरी याद आयी बारिश को देख कर, दिल पे ज़ोर न रहा अपनी बेबसी को देख कर, रोये इस कदर तेरी याद में, कि बारिश भी थम गयी मेरी बारिश को देख कर।


Dard Bhari Shayari In Hindi 

इस दिल की दास्ताँ भी बड़ी अजीब होती है, बड़ी मुस्किल से इसे ख़ुशी नसीब होती है, किसी के पास आने पर ख़ुशी हो न हो, पर दूर जाने पर बड़ी तकलीफ होती है।


Dard Shayari 

बहुत अजीब हैं ये बंदिशें मोहब्बत की, कोई किसी को टूट कर चाहता है, और कोई किसी को चाह कर टूट जाता है।


Dard Shayari In Hindi 

मेरे दिल का दर्द किसने देखा है, मुझे बस खुदा ने तड़पते देखा है, हम तन्हाई में बैठे रोते हैं, लोगों ने हमें महफ़िल में हँसते देखा है।


दर्द भरी शायरी 

हर बात में आंसू बहाया नहीं करते, दिल की बात हर किसी को बताया नहीं करते, लोग मुट्ठी में नमक लेके घूमते है, दिल के जख्म हर किसी को दिखाया नहीं करते।


Dard Bhari Shayari In Hindi 

हर वक़्त तेरे आने की आस रहती है, हर पल तुझसे मिलने की प्यास रहती है, सब कुछ है यहाँ बस तू नही, इसलिए शायद ये जिंदगी उदास रहती है।


Dard Shayari 

वक्त नूर को बेनूर कर देता है, छोटे से जख्म को नासूर कर देता है, कौन चाहता है अपनों से दूर होना, लेकिन वक्त सबको मजबूर कर देता है।


Dard Shayari In Hindi 

दर्द दे गए सितम भी दे गए, ज़ख़्म के साथ वो मरहम भी दे गए, दो लफ़्ज़ों से कर गए अपना मन हल्का, और हमें कभी ना रोने की कसम दे गए।


Dard Bhari Shayari 

अपनी आँखों के समंदर में उत्तर जाने दे, तेरा मुज़रिम हूँ मुझे डूब के मर जाने दे, ज़ख़्म कितने तेरी चाहत से मिले हैं मुझको, सोचता हूँ कहूँ तुझसे, मगर जाने दे।


Dard Bhari Shayari In Hindi 

कैसे बयान करें आलम दिल की बेबसी का, वो क्या समझे दर्द आंखों की इस नमी का, उनके चाहने वाले इतने हो गए हैं अब कि, उन्हे अब एहसास ही नहीं हमारी कमी का।


Dard Shayari 

जिंदगी भर दर्द से जीते रहे, दरिया पास था आंसुओं को पीते रहे, कई बार सोचा कह दू हाल-ए-दिल उससे, पर न जाने क्यूँ हम होंठो को सीते रहे।


Dard Shayari In Hindi 

दुनिया में किसी से कभी प्यार मत करना, अपने अनमोल आँसू इस तरह बेकार मत करना, कांटे तो फिर भी दामन थाम लेते हैं, फूलों पर कभी इस तरह तुम ऐतबार मत करना।


दर्द भरी शायरी 

हर सितम सह कर कितने ग़म छिपाये हमने, तेरी खातिर हर दिन आँसू बहाये हमने, तू छोड़ गया जहाँ हमें राहों में अकेला, बस तेरे दिए ज़ख्म हर एक से छिपाए हमने।