Desh Bhakti Shayari - देश भक्ति शायरी 2020

To love our nation and consistently think of its welfare is called Patriotism. On hearing the word Desh Bhakti, the body is filled with excitement. There is a feeling that seems impossible to express in words. Here some famous desh bhakti Shayari (देश भक्ति शायरी 2020) has been posted in Hindi, hope you will like it.


Desh Bhakti Shayari - देश भक्ति शायरी 2020

Desh Bhakti Shayari - देश भक्ति शायरी 

न पूछो ज़माने से, क्या हमारी कहानी है,
हमारी पहचान तो सिर्फ ये है, की हम सिर्फ
हिन्दुस्तानी हैं ..।।


बस ये बात हवाओं को बताये रखना,
रौशनी होगी चिरागों को जलाये रखना,
लहू देकर जिसकी हिफाज़त की शहीदों ने,
उस तिरंगे को सदा दिल में बसाये रखना।

Desh bhakti shayari army


किसी गजरे की खुशबु को महकता छोड़ आया हूँ,
मेरी नन्ही सी चिड़िया को चहकता छोड़ आया हूँ,
मुझे छाती से अपनी तू लगा लेना ऐ भारत माँ,
मैं अपनी माँ की बाहों को तरसता छोड़ आया हूं।।


मैं मुल्क की हिफाजत करूँगा ये मुल्क मेरी जान है,
इसकी रक्षा के लिए मेरा दिल और जान कुर्बान है।।

Best Desh bhakti shayari 2020


मुझे तन चाहिए न धन चाहिए,
बस अमन से भरा ये वतन चाहिए,
जब तक जिंदा रहूँ इस मात्रभूमि के लिए,
और जब मरू तो तिरंगा कफ़न चाहिए।


आजादी की कभी शाम नहीं होने देंगे,
शहीदों की कुर्बानी बदनाम नहीं होने देंगे,
बची हो जो एक बूँद भी लहू की तब तक,
भारत माता का आँचल नीलाम नहीं होने देंगे।


देश भक्ति शायरी Desh bhakti shayari attitude 2021


लिख रहा हूं मैं अजांम जिसका कल आगाज आयेगा,
मेरे लहू का हर एक कतरा इकंलाब लाऐगा
मैं रहूँ या ना रहूँ पर ये वादा है तुमसे मेरा कि,
मेरे बाद वतन पर मरने वालों का सैलाब आयेगा


चलो फिर से आज वो नजारा याद कर लें,
शहीदों के दिल में थी वो ज्वाला याद करले,
जिसमे बहकर आज़ादी पहुची थी किनारे पे,
देशभक्तों के खून की वो धरा याद कर लें.

Desh bhakti shayari status | Desh bhakti shayari 2 line


चैन ओ अमन का देश है मेरा, इस देश में दंगा रहने दो
लाल हरे में मत बांटो, इसे शान ए तिरंगा रहने दो


जो अब तक ना खौला, वो खून नहीं पानी है,
जो देश के काम ना आये, वो बेकार जवानी है


सीने में जूनून और आँखों में देशभक्ति की चमक रखता हूँ !
दुश्मन की सांसे थम जायें, आवाज में इतनी धमक रखता हूँ !!

बेस्ट देश भक्ति शायरी 2 लाइन

ये पेड़ ये पत्ते ये शाखें, भी परेशान हो जाएँ,
अगर परिंदे भी हिन्दू और मुसलमान हो जाएँ.


फना होने की इजाजत ली नहीं जाती, 
यह वतन की मोहब्बत है जनाब पूछ के की नहीं जाती !


Love filled desh Bhakti Shayari देश भक्ति शायरी 2020


गूंजे कहीं पर शंख , कहीं पे अजान है,
बाइबिल है, ग्रन्थ सहाब है,गीता का ज्ञान है,
दुनिया में कहीं और ये मंजर नसीब नहीं,
दिखा दो दुनिया को के ये हिन्दुस्तान है।


दोस्ताना इतना बरकरार रखो कि,
मजहब बीच में न आये कभी,
तुम उसे मंदिर तक छोड़ दो ,
वो तुम्हें मस्जिद छोड़ आये कभी।

Best desh bhakti shayari in Hindi on companionship


आज मुझे फिर इस बात का गुमान हो,
मस्जिद में भजन मंदिरों में अज़ान हो,
खून का रंग फिर एक जैसा हो,
तुम मनाओ दिवाली मेरे घर रमजान हो।


संस्कार और संस्कृति की शान मिले ऐसे,
हिन्दू मुस्लिम और हिंदुस्तान मिले ऐसे
हम मिलजुल के रहे ऐसे की
मंदिर में अल्लाह और मस्जिद में राम मिले जैसे.